प्रयागराज : उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में महाकुंभ 2019 का आगाज मंगलवार को हो चुका हैं।प्रयागराज में गंगा, यमुना और सरस्वती तीनों के संगम पर नागा साधुओं और फिर अन्य अखाड़ों के साधु व संतों के शाही स्नान के बाद श्रद्धालुओं का संगम तट पर डुबकी लगाने का सिलसिला चल रहा है। आज सूर्य के मकरगति यानी मकर राशि में आने के साथ ही तीर्थराज प्रयाग में संगमतट पर कुंभ का महापर्व शुरू हो गया।

ठंड के बाद भी प्रयागराज में डुबकी लगाने वालों के बीच गर्मी का माहौल है। आपको बता दें कि यह दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक आयोजन में से एक है। पहले शाही स्नान पर्व पर अखाड़ों के नागा संन्यासियों, महामंडलेश्वरों, साधु-संतों सहित लाखों श्रद्धालुओं ने संगम में पुण्य की डुबकी लगाकर कुंभ का श्रीगणेश किया।

मंगलवार को सुबह 5 बजे से शुरू स्नान पूरे दिन चलेगा. सुबह सबसे पहले, 6.05 बजे महानिर्वाणी के साधु-संत पूरे लाव-लश्कर के साथ शाही स्नान को संगम तट पर पहुंचे जिसके बाद अखाड़ों के स्नान का क्रम शुरू हुआ। जानकारी के अनुसार सभी अखाड़ों को बारी-बारी से स्नान के लिए 30 मिनट से 45 मिनट तक का वक्त दिया गया है। साधु-संतों के साथ आम श्रद्धालु भी संगम सहित अलग-अलग घाटों पर मौजूद हैं और आधी रात से ही स्नान की प्रक्रिया में जुटे हुए हैं।

कड़ी सुरक्षा के बीच घाटों पर नहाने और पूजा पाठ का सिलसिला जारी है। मौसम की बात करें तो पारा 10 डिग्री सेल्सियस से भी कम है और इसके बावजूद भी बड़ी तादाद में लोग डुबकी लगा रहे हैं।

ये है खास इंतजाम
690 किमी लंबी पानी की पाइप लाइन बिछायी गयी है
800 किमी में बिजली की सप्लाई पहुंचायी गयी है
300 किमी सड़कों का हुआ है निर्माण/मरम्मत
1,22,000 बायो शौचालय बनाये गये हैं मेला क्षेत्र में
हर तरह की सुविधा है कुंभ नगरी में
25 हजार स्ट्रीट लाइट
01 लाख टेंट बनाये गये
524 बसों की व्यवस्था
420 से अधिक हाइफाइ टेंट
1500 अधिक ऑटो रिक्शा
200 एटीएम
48 मिल्क बूथ
सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था
02 इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमांड सेंटर
20 हजार से अधिक पुलिसकर्मी
04 पुलिस लाइन
40 पुलिस थाना
03 महिला थाना
62 पुलिस पोस्ट
15 करोड़ लोगों के जुटने की उम्मीद
कुंभ मेले में इस बार देश-विदेश के करीब 15 करोड़ लोगों के आने की उम्मीद है। 15 जनवरी से शुरू होने वाला यह मेला 49 दिनों के बाद चार मार्च को खत्म होगा।उत्तर प्रदेश सरकार ने इसकी तैयारियां काफी समय पहले से ही शुरू कर दी थी। मेले में पुलिस के साथ अर्द्धसैनिक बल के जवानों और सेना को भी तैनात किया गया है। मेला क्षेत्र के चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरों की मदद से निगाह रखी जा रही है। सुरक्षा के मद्देनजर वायुसेना को भी अलर्ट मोड पर रखा गया है।