नई दिल्ली : बिहार में लोकसभा सीटों के बंटवारे को लेकर महागठबंधन में चल रहे अंतर्विरोध के बीच बिहार के कांग्रेसी नेताओं के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली में आपात बैठक कर रहे हैं। वहीं, पटना में राजद नेता तेजस्वी की तबीयत अचानक खराब हो गयी है। तेजस्वी यादव ने अपनी सभी चुनावी रैलियों को रद कर दिया है। बताया जाता है कि बैठक के बाद कांग्रेस चुनाव समिति महागठबंधन में बने रहने और उम्मीदवारों के नाम को लेकर आज बड़ा फैसला ले सकती है। मालूम हो कि आज महागठबंधन के उम्मीदवारों के नाम का एलान आज किया जाना है, जिसमें राजद नेता तेजस्वी यादव के भी शामिल होने की बात कही गयी है।

जानकारी के मुताबिक, बिहार में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सीट बंटवारे को लेकर महागठबंधन में मधेपुरा, दरभंगा, सुपौल जैसी सीटों को लेकर अंतर्विरोध के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बिहार के कांग्रेसी नेताओं के साथ आपात बैठक कर रहे हैं। बताया जाता है कि सीटों के बंटवारे को लेकर अगर समझौता नहीं होने पर महागठबंधन के बिखर जाने के भी आसार हैं। मालूम हो कि बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर राजद को 20 सीटें मिली हैं। वहीं, कांग्रेस को नौ सीटें मिली हैं। बताया जाता है कि कांग्रेस अब राजद के सामने घुटने टेकने को तैयार नहीं है।

इधर, भाजपा छोड़ कर कांग्रेस में शामिल हुए कीर्ति झा आजाद दरभंगा से ही चुनाव लड़ने पर अड़े हैं. वहीं, राजद दरभंगा से अब्दुल बारी सिद्दीकी को उम्मीदवार बना रही है। कांग्रेस विधायक अमित कुमार टुन्ना ने कहा है कि कांग्रेस बैकफुट पर आकर चुनाव नहीं लड़ेगी। महागठबंधन में रहने से कांग्रेस को काफी नुकसान हो रहा है। वहीं, सुपौल से कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन का कहना है कि हम हर परिस्थिति से निबटने के लिए तैयार हैं।

कांग्रेस चुनाव समिति आज वाल्मीकिनगर, समस्तीपुर, सासाराम, पटना साहिब, मुंगेर और सुपौल से अपने उम्मीदवारों की घोषणा करनेवाली है। सीट शेयरिंग को लेकर कांग्रेस में औरंगाबाद, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, काराकाट और शिवहर खींचतान है. बिहार के कांग्रेसी नेताओं ने महागठबंधन तोड़ने तक की सलाह दे दी है। औरंगाबाद में निखिल कुमार को सीट नहीं दिये जाने के बाद से मामला बढ़ने लगा। वहीं, वाल्मीकिनगर की सीट कीर्ति झा आजाद को दिये जाने के बाद से वह नाराज बताये जाते हैं। वह दरभंगा से ही चुनाव लड़ना चाहते हैं। इधर, काराकाट की सीट को लेकर बिहार के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने दावा ठोंका है। दक्षिण बिहार में सिर्फ सासाराम की सीट दिये जाने से कौकब कादरी नाराज हैं। मधुबनी सीट से राजद शरद यादव को चुनावी मैदान में उतारना चाहती है। जबकि, मौजूदा सांसद पप्पू यादव ने मधुबनी से ही चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। बताया जा रहा है कि पप्पू यादव की पत्नी और सुपौल की सांसद रंजीत रंजन के खिलाफ राजद ने अपना उम्मीदवार खड़ा करने की चेतावनी दे रहा है। पटना साहिब की सीट से भाजपा के बागी शत्रुघ्न सिन्हा को कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी बनाये जाने की बात कही जा रही है। लेकिन, अभी तक शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस में शामिल नहीं हो पाये हैं। आज गुरुवार को शत्रुघ्न सिन्हा के कांग्रेस में शामिल होने की बात कही गयी थी, लेकिन बताया जाता है कि कांग्रेस में उनके शामिल होने का कार्यक्रम फिलहाल टाल दिया गया है।