कोलकाता : राज्य में लोकसभा चुनाव में 18 सीटों पर जीत हासिल करने के बाद प्रदेश भाजपा मिशन 2021 की तैयारियों में जुट गयी है. 2021 में पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव है। मिशन 2021 के तहत एक ओर, तृणमूल कांग्रेस के विधायकों, आला नेताओं और कार्यकर्ताओं को भाजपा में शामिल कराने का सिलसिला चल रहा है।दूसरी ओर, जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती छह जुलाई से भाजपा संगठन पर्व के रूप में सदस्यता अभियान शुरू करेगी, जो 10 अगस्त तक चलेगा।

भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने पार्टी के उपाध्यक्ष व मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को केंद्रीय स्तर पर सदस्यता अभियान समिति का संयोजक बनाया है।भाजपा सदस्यता अभियान की गाइडलाइन को लेकर सोमवार को नयी दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में बैठक हुई थी। उसमें प्रदेश भाजपा के आला नेता उपस्थित थे। वहीं, पश्चिम बंगाल में सदस्यता अभियान की तैयारियों को लेकर बुधवार को पार्टी पदाधिकारियों की बैठक बुलायी गयी है। यह बैठक सुबह 10 बजे से आइसीसीआर में होगी।

बैठक में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष, प्रदेश भाजपा के पदाधिकारी, भाजपा संगठन के जिलों के अध्यक्ष, जिला पर्यवेक्षक के अतिरिक्त प्रत्येक जिला के दो प्रतिनिधि उपस्थित रहेंगे। बैठक में पश्चिम बंगाल में सदस्यता अभियान चलाने की रूपरेखा पर चर्चा होगी।

राज्य में भाजपा के 43 लाख सदस्य, 1.5 करोड़ बनाने का लक्ष्य
प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष विश्वप्रिय रायचौधरी ने कहा कि फिलहाल बंगाल में भाजपा के 43 लाख सदस्य हैं। यह दो वर्ष पहले का आंकड़ा है, लेकिन पिछले दो वर्षों में भाजपा की लोकप्रियता बढ़ी है। लोकसभा चुनाव में भाजपा को 18 सीटों पर जीत हासिल हुई है। भाजपा को दो करोड़, 30 लाख मत के साथ 40 फीसदी मत मिले हैं। राज्य के लोगों में बढ़ते विश्वास को देखते हुए बंगाल में भाजपा के 1.5 करोड़ सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय नेतृत्व ने भी पश्चिम बंगाल में सदस्यता बनाने पर विशेष जोर दिया है।

सदस्यता अभियान के फॉरमेट में होगा बदलाव
भाजपा के वरिष्ठ नेता के अनुसार सदस्यता अभियान के फाॅरमेट में इस बार कुछ बदलाव किये गये हैं। अब मिस्ड कॉल के साथ बनाये जानेवाले सदस्यों से मैन्यूअल फार्म भी भरवाये जायेंगे। इसमें नये सदस्यों नाम, पते और संपर्क संबंधित जानकारी भरी जायेगी। मिस्ड कॉल के जरिये फर्जी सदस्यता की समस्या से निपटने के लिए भाजपा ने यह कदम उठाया है, क्योंकि पिछली बार मिस्ड कॉल के जरिये सदस्यता के बाद वेरिफिकेशन के दौरान सदस्यों की संख्या घट गयी थी। प्रदेश भाजपा के महासचिव संजय सिंह ने बताया कि प्रदेश भाजपा का लक्ष्य हर बूथ तक पहुंचना है, जिन लोकसभा सीटों में भाजपा उम्मीदवार विजयी हुए हैं। उन इलाकों में सदस्यता अभियान के साथ-साथ कमजोर बूथों व इलाकों को चिह्नित कर वहां अधिक सदस्य बनाये जायेंगे। पार्टी का सदस्य बनने की प्रक्रिया मोबाइल फोन पर मिस कॉल से शुरू होगी। पार्टी कार्यकर्ता बाद में ऐसे लोगों से संपर्क पर सदस्यता फार्म भरवायेंगे। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक सदस्य बनाने बनाने के लिए पार्टी अभियान शुरू करने से पहले पूरी तैयारी करेगी। इसी के मद्देनजर बुधवार को यह बैठक हो रही है।