बेंगलुरु. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार को कहा कि मैंने अपनी सहयोगी पार्टी कांग्रेस के लिए 14 महीनों तक गुलाम की तरह काम किया। सभी विधायकों और यहां तक कि निगम अध्यक्षों को भी पूरी स्वतंत्रता दी थी। पता नहीं वे मुझे दोष क्यों दे रहे हैं?

विश्वास मत हासिल नहीं कर पाने के बाद 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जेडीएस सरकार 23 जुलाई को गिर गई थी। बाद में भाजपा नेता येदियुरप्पा ने 26 जुलाई को कर्नाटक के 25वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

जेडीएस नेता ने कहा कि कई कांग्रेस नेता गठबंधन सरकार बनाने के पक्ष में नहीं थे। चुनाव में बहुमत न मिलने के बाद कांग्रेस पूरी ईमानदारी से जेडीएस के साथ हाथ मिलाना चाहती थी और वे सरकार बनाना चाहते थे। लेकिन मेरे सूत्रों का कहना है कि कुछ स्थानीय नेताओं को इसमें दिलचस्पी नहीं थी।

‘कांग्रेस ने पहले दिन से जनता के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया’

कुमारस्वामी ने कहा कि सरकार के गठन के पहले दिन से ही कांग्रेस नेताओं के एक वर्ग ने जनता के साथ कैसा व्यवहार किया, यह सभी जानते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी सरकार ने जेडीएस की तुलना में कांग्रेस विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों के लिए अधिक धन आवंटित किया था।

कुमारस्वामी ने कहा, ‘‘जब कोई विधायक बिना अपॉइंटमेंट के आते थे, तो भी मैं उनसे मिलता था। उनके निर्वाचन क्षेत्रों के विकास के लिए उनके पास जो भी अनुरोध आए, मैंने तत्काल उन पर फैसला लिया। मैंने 14 महीनों में जितना काम किया, पिछली कांग्रेस सरकार ने कुछ नहीं किया। मैंने कांग्रेस विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों को 14 महीनों में 19,000 करोड़ रुपए से ज्यादा का आवंटन किया।’’

किसी ने मेरे काम को नहीं सराहा- कुमारस्वामी

कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन पर कुमारस्वामी ने कहा, ‘‘सरकार बनाने के लिए कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद दोनों पार्टियों के कुछ नेता नाखुश थे, लेकिन मैंने कांग्रेस की मदद से सरकार बनाई। वे व्यवस्था से खुश नहीं थे। मुख्यमंत्री से इस्तीफा देने के बाद अब मैं सबसे खुश व्यक्ति हूं। 14 महीने तक मैंने राज्य के विकास के लिए काम किया, किसी ने मेरे काम की सराहना नहीं की। इसका मुझे बेहद दुख है।’’

पार्टी नेता कांग्रेस से गठबंधन नहीं करना चाहते

कुमारस्वामी कहते हैं कि उनके पार्टी के नेता भविष्य में कभी कांग्रेस से गठबंधन नहीं करना चाहते। लेकिन कांग्रेस हाईकमान अब भी हमारे साथ बहुत सहयोग कर रहा है। देखते हैं भविष्य में क्या होने वाला है।