सियोल. उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग-उन ने अपने देश के हालिया मिसाइल और हथियार परीक्षणों पर चुप्पी तोड़ी। न्यूज एजेंसी केसीएनए के मुताबिक, किम ने मंगलवार को कहा कि हमारे परीक्षण एक तरीके से अमेरिका और दक्षिण कोरिया के लिए चेतावनी हैं। उन्होंने दोनों देशों के संयुक्त युद्धाभ्यास को उत्तर कोरिया के साथ हुए समझौतों का उल्लंघन बताया। अमेरिका और दक्षिण कोरिया का सैन्य अभ्यास सोमवार को शुरू हुआ था।

द.कोरिया के जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा कि उत्तर कोरिया ने कम दूरी की बैलेस्टिक मिसाइलें दागी थीं। किम ने मंगलवार को इस परीक्षण की निगरानी की। बीते दो हफ्ते में उसके द्वारा हथियारों का यह चौथा परीक्षण है। इसे दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सैन्य अभ्यास के खिलाफ धमकी के तौर पर देखा जा रहा है। इस ‘वॉर गेम’ से अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच परमाणु वार्ता को खतरा हो सकता है।

जून में ट्रम्प और किम ने मुलाकात की थी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और किम ने कोरियाई प्रायद्वीप के असैन्य क्षेत्र में जून में मुलाकात की थी। इस दौरान दोनों नेताओं ने परमाणु वार्ता फिर से शुरू करने पर सहमति जताई थी। लेकिन उस स्तर की बातचीत अभी शुरू नहीं हुई है। द. कोरिया का भी कहना है कि दोनों देश वार्ता करने के मूड में नहीं हैं।