इस्लामाबाद. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद पाकिस्तान ने एक बार फिर अपने एयरस्पेस पर पाबंदी लगानी शुरू कर दी है। उसने बुधवार रात से एयरस्पेस का एक कॉरिडोर बंद कर दिया। इसके असर से अमेरिका, यूरोप और मध्य पूर्व (मिडिल ईस्ट) जाने वाली फ्लाइट्स को 12 मिनट का अतिरिक्त समय लगेगा।

एयर इंडिया के प्रवक्ता के मुताबिक, ‘‘एक कॉरिडोर (पाकिस्तान एयरस्पेस का) बंद होने से फ्लाट्स को डायवर्ट किया गया है। इससे 12 मिनट का अतिरिक्त समय लगेगा, लेकिन इसका ज्यादा असर नहीं पड़ने वाला। फिलहाल, पाक एयरस्पेस से प्रतिदिन करीब 50 फ्लाइट्स संचालित होती हैं।’’

भारत ने कश्मीर फैसले की जानकारी अमेरिका को नहीं दी
पाक ने बुधवार को भारत के साथ द्विपक्षीय व्यापार खत्म करने का फैसला भी लिया। प्रधानमंत्री इमरान खान ने बुधवार को राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की बैठक में यह फैसला लिया। पाक सरकार भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को वापस भेजेगी। इस बीच ट्रम्प सरकार ने कहा है कि भारत ने उसे कश्मीर पर लिए गए फैसले पर कोई जानकारी नहीं दी।

एनएससी की बैठक में 5 अहम फैसले लिए गए
राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) ने कहा- पाकिस्तान भारत के इस कदम की निंदा करता है। इस फैसले से क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय शांति पर उल्टा प्रभाव पड़ेगा। इस बैठक में 5 अहम फैसले लिए गए।

1- राजनयिक संबंधों को कम करना।
2- द्विपक्षीय व्यापारिक संबंध खत्म करना।
3- द्विपक्षीय व्यवस्थाओं की समीक्षा करना।
4- कश्मीर पर फैसले का मामला संयुक्त राष्ट्र ले जाना।
5- 14 अगस्त का दिन कश्मीरियों के साथ मजबूती के साथ खड़े रहने के तौर पर याद किया जाएगा। 15 अगस्त को काला दिवस मनाया जाएगा।

एयरस्ट्राइक के बाद भी पाक ने एयरस्पेस बंद किया था
पाकिस्तान ने इससे पहले भी बालाकोट एयरस्ट्राइक के अगले दिन 27 फरवरी से एयरस्पेस बंद कर दिया था। जिसे 139 दिन बाद 18 जुलाई को पाक ने फिर खोल दिया था। एयर स्पेस बंद होने के दौरान यूरोप और खाड़ी देशों की ओर जाने वाली सभी फ्लाइट गुजरात के ऊपर से अरब सागर पार करते हुए जा रही थीं।

पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एससीओ समिट में हिस्सा लेने किर्गिस्तान जाना था। तब पाक ने मोदी के लिए 48 घंटे तक अपना एयरस्पेस खोला था, लेकिन मोदी ने पाक एयरस्पेस का इस्तेमाल नहीं किया।