श्रीनगर. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने अजीत डोभाल के कश्मीरियों के साथ लंच करने पर कहा कि पैसे देकर किसी को भी साथ लाया जा सकता है। बुधवार को बुधवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने शोपियां (कश्मीर) में स्थानीय लोगों के साथ लंच किया। उन्होंने वहां के हालात पर लोगों से बातचीत भी की। केंद्र सरकार ने डोभाल को अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर में सुरक्षा-व्यवस्था का जायजा लेने भेजा।

एनएसए डोभाल ने शोपियां में सुरक्षा अधिकारियों से भी मुलाकात की। इस मौके पर डीजीपी दिलबाग सिंह भी मौजूद थे। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, डोभाल ने शोपियां में उस इलाके के लोगों से भी बात की जहां बुरहान वानी को मारा गया था। इसके बाद पत्थरबाजी की घटनाएं भी बढ़ गई थीं। हालांकि यह क्षेत्र अब सामान्य है।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश होंगे

पिछले दिनों घाटी में राज्यपाल शासन लगाए जाने के बाद सरकार ने सुरक्षा के लिहाज से 10 हजार सैनिकों को भेजा था। इसके बाद सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया। विशेष राज्य का दर्जा वापस लिया गया। अब से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश होंगे।

घाटी के नेता नजरबंद किए गए

घाटी के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला को नजरबंद किया गया है। जबकि महबूबा मुफ्ती को हिरासत में लिया गया था। हालांकि गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में फारूख अब्दुल्ला को लेकर कहा था कि उन्हें न गिरफ्तार किया गया है न नजरबंद किया गया है। वे बिल्कुल ठीक हैं।