नई दिल्ली. पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में एफ-16 विमान को मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तनाम को वीर चक्र से नवाजा जा सकता है। मोदी सरकार स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बहादुर पायलट के लिए इसका ऐलान कर सकती है। वीर चक्र युद्धकाल में बहादुरी के लिए दिया जाने वाला तीसरा सबसे बड़ा सैन्य अवॉर्ड है। पहले नंबर पर परमवीर चक्र और दूसरे पर महावीर चक्र हैं।

अप्रैल में न्यूज एजेंसी ने दावा किया था कि वायुसेना ने 26 फरवरी को एयर स्ट्राइक में शामिल रहे मिराज-2000 के पांच और पायलटों को वायुसेना मेडल देने का फैसला किया है। इन पायलटों ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर इजराइल में बने स्पाइस 2000 बम बरसाए थे। इस दौरान करीब 300 आतंकी मारे गए थे। कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हुए फिदायीन हमले की जिम्मेदारी आतंकी मसूद अजहर से संगठन ने ली थी। हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे।

भारतीय विमानों ने पाक के एफ-16 को खदेड़ा था
एयर स्ट्राइक से बौखलाए पाकिस्तान ने अगले दिन यानी 27 फरवरी को कुछ एफ-16 विमानों को कश्मीर में भारत के सैन्य ठिकानों पर हमले के लिए भेजा था। पाकिस्तानी विमानों ने घुसपैठ कर हमले की कोशिश की, लेकिन भारतीय वायुसेना की मुस्तैदी से उसके नापाक मंसूबे ध्वस्त हो गए। भारत के मिग-21 और मिराज 2000 लड़ाकू विमानों ने उन्हें खदेड़ा था। मिग-21 के पायलट अभिनंदन ने डॉग फाइट में पाक विमान को मार गिराया था। इस दौरान भारतीय विमान भी पीओके में जा गिरा और पाक सैनिकों ने अभिनंदन को पकड़ लिया था। इसके बाद भारत ने कूटनीतिक तरीके से 1 मार्च को उन्हें छुड़ा लिया था।