नैरोबी. केन्या की संसद में बुधवार को महिला सांसद जुलैखा हसन को सिर्फ इसलिए बाहर निकाल दिया गया, क्योंकि वे अपने पांच माह के बच्चे को संसद लेकर पहुंची थी। बच्चे की केयरटेकर आई नहीं थी, इसलिए उन्होंने बच्चे को साथ ले जाना मुनासिब समझा।

चेंबर में पहुंचते ही स्पीकर ओमुलेले हसन ने जुलैखा को बाहर जाने का आदेश दिया और कहा कि वे बच्चे के बिना वापस आ सकती हैं। कुछ और सांसदों ने भी जुलैखा पर चिल्लाना शुरू कर दिया।

जुलैखा के समर्थन में आईं महिला सांसद
बहस के बाद पुरुष सांसदों ने सदन में बच्चे को लाने के फैसले को शर्मनाक बताया। इसके बाद महिला सांसदों का एक समूह जुलैखा के समर्थन में आ गया। तर्क दिया कि दुनिया की कई बड़ी नेता बच्चों को साथ लेकर आ रही हैं, तो केन्या में यह क्यों नहीं हो सकता।