बेंगलुरु. भारतीय सेना ने शुक्रवार को बताया कि 4 राज्यों के बाढ़ प्रभावित इलाकों से 15000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया जबकि 6000 लोग रेस्क्यू ऑपरेशन में बचाए गए। इन राज्यों में महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु हैं। सेना की 123 टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई हैं। इन्हें 16 जिलों में राहत कार्यों के लिए लगाया गया है। भारतीय नौसेना ने 450 लोगों को सुरक्षित बचाया जबकि 300 लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया।

30 लोग अभी भी लापता

केरल के कोट्टयम में भारी बारिश से बाढ़ से हालात बन गए हैं। प्रदेश में अब तक बाढ़ से 42 लोगों की मौत हो चुकी है। 8 अगस्त को मलप्पुरम में भूस्खलन हुआ था। 30 लोग अभी भी लापता हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। खराब मौसम के कारण इसे बार-बार रोकना पड़ रहा है।

महाराष्ट्र: डिफेंस पीआरओ ने बताया- आज सुबह छह बजे नौसेना की 14 टीमें कोल्हापुर के पास शिरोली गांव में रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए पहुंच चुकी हैं। एनडीआरएफ ने शुक्रवार को बताया कि बाढ़ प्रभावित प्रदेशों से अब तक 42000 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा चुका है। जबकि 5,375 लोगों को बचाया गया है। 173 टीमें राहतकार्यों में जुटी हैं।

भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी

मौसम विभाग ने शुक्रवार के लिए मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र में बहुत भारी बारिश और गोवा, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश की चेतावनी जारी की थी। साथ ही पूर्वोत्तर, मध्य और दक्षिण-पश्चिम अरब सागर क्षेत्रों में हवाएं 50 किमी की रफ्तार से चलने का अनुमान जताया था।

गुजरात: 3 मंजिला इमारत धंसी, 4 की मौत

मध्य गुजरात के खेडा में बारिश के कारण शुक्रवार को तीन मंजिला इमारत धंस गई। 10 लोगों के दबे होने की आशंका है जबकि 4 लोगों की मौत हो गई है। स्थानीय प्रशासन और दमकल की टीम बचाव में जुटी है। इमारत को नडियाद की प्रगतिनगर सोसायटी, गुजरात हाउसिंग बोर्ड ने 1970 में बनवाया था। रख-रखाव के अभाव में यह इमारत जर्जर हो गई थी। इसकी हर मंजिल पर 4 फ्लैट थे। नडियाद खेडा जिले का मुख्यालय है।