नई दिल्लीः कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर सवाल उठाते हुए चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा है कि जम्मू कश्मीर में हिंसा की खबरें हैं. वहीं उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया है कि पीएम मोदी कश्मीर का सच लोगों को बताएं. उन्होंने प्रधानमंत्री से यह मांग की कि वह देश और जनता को बताएं कि वहां क्या हो रहा है.
शनिवार रात को वह सीडब्लूसी की दूसरे दौर की बैठक के लिए आए. नये कांग्रेस अध्यक्ष के ऐलान से पहले कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक चल ही रही थी कि रात करीब 10:25 बजे राहुल गांधी बाहर आए. राहुल गांधी जब कांग्रेस मुख्यालय से बाहर आए तो सबको लगा कि शायद वह नए कांग्रेस अध्यक्ष के बारे में कोई जानकारी देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. उऩ्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि जम्मू-कश्मीर के बारे में कई खबरें आ रही हैं. वहां लोग मर रहे हैं. सरकार को वहां की स्थिति के बारे में जवाब देना चाहिए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार को पारदर्शिता के साथ यह बताना चाहिए कि देश में हो क्या रहा है. कहा कि बैठक के बीच में जम्मू-कश्मीर के बारे में खबरें आईं. इसीलिए मुझे सीडब्लूसी की बैठक में बुलाया गया. नये कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर चर्चा को रोककर जम्मू-कश्मीर के हालात पर चर्चा हुई.

इस बैठक में सोनिया गांधी के अलावा पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी, ज्योतिरादित्य सिंधिया, एके एंटनी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत कई बड़े नेता शामिल हुए. यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी को कांग्रेस का नया अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया है. कांग्रेस वर्किंग कमिटी में यह फैसला लिया गया. सोनिया गांधी 1998 से 2017 तक पार्टी अध्यक्ष रह चुकी हैं.

DGP दिलबाग सिंह ने कहा नहीं चली एक भी गोली
जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद भारी तादाद में स्थानीय लोगों के विरोध प्रदर्शन और पुलिस फायरिंग की कथित खबरों पर डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि घाटी में शांति है. पथराव की मामूली घटना को छोड़ कर किसी तरह की अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है, जिससे तत्काल निपट लिया गया था और वहीं रोक दिया गया था.

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा, ‘घाटी में पुलिस फायरिंग से संबंधित प्रायोजित और शरारतपूर्ण खबरों पर आम लोगों को यकीन नहीं करना चाहिए. पिछले छह दिनों में पुलिस ने भी एक भी गोली नहीं चलाई. इलाके में शांति है और स्थानीय लोग मदद कर रहे हैं. डीजीपी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान के बाद राज्य की स्थिति के संबंध में यह स्पष्टीकरण दिया.