बेंगलुरु. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रविवार को कर्नाटक के बेलगावी जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। जबकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी अपने संसदीय क्षेत्र केरल के वायनाड जाएंगे। केरल और कर्नाटक में बाढ़ और भूस्खलन की वजह से 83 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि महाराष्ट्र में चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। गुजरात में 19 और महाराष्ट्र में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र में सांगली और कोल्हापुर सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं। सेना की 123 टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने मृतकों के परिजन को 5 लाख रु. के मुआवजे का ऐलान किया है। जिला प्रशासन ने शनिवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता बी जनार्दन पुजारी को दक्षिण कन्नड़ जिले के बाढ़ प्रभावित बंतवाल में उनके घर से बचाया। वहीं, धारवाड़ जिला प्रशासन ने स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टियों को तीन दिनों के लिए और बढ़ा दिया है। लगातार हो रही बारिश को देखते हुए स्कूल-कॉलेज 13 अगस्त को खुलेंगे। इससे पहले येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि राज्य में 45 साल बाद सबसे बड़ी प्राकृतिक आपदा आई है। इसमें अब तक 6 हजार करोड़ रु. का नुकसान हुआ है। कर्नाटक सरकार ने केंद्र से 3 हजार करोड़ रु. की मदद मांगी है।

केरल के तीन जिलों में रेड अलर्ट

केरल में रेलवे ट्रैक पर पेड़ और चट्टान गिरने की वजह से ट्रैफिक पर असर पड़ा है। 10 ट्रेनें पूरी तरह और 5 को आंशिक रूप से रद्द किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे में गुजरात, तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। वहीं, 12 से 14 अगस्त तक ओडिशा, दक्षिण झारखंड, उत्तर छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश और केरल में तेज बारिश का अनुमान है। रविवार के लिए केरल के तीन जिलों में रेड अलर्ट और 6 जिलों में ऑरेंज अलर्ट है।

मध्य प्रदेश: नर्मदा खतरे के निशान से 7 मीटर ऊपर बह रही
प्रदेश के धार और बड़वानी में नर्मदा नदी उफान पर है। इसकी वजह से 1000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। राज्य के 28 बांधों में से सात के गेट खोल दिए गए हैं। जबलपुर स्थित बरगी बांध के 15 गेट खोल दिए गए हैं। बड़वानी में नर्मदा खतरे के निशान से 7 मीटर ऊपर बह रही है।बेंगलुरु. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रविवार को कर्नाटक के बेलगावी जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। जबकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी अपने संसदीय क्षेत्र केरल के वायनाड जाएंगे। केरल और कर्नाटक में बाढ़ और भूस्खलन की वजह से 83 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि महाराष्ट्र में चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। गुजरात में 19 और महाराष्ट्र में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र में सांगली और कोल्हापुर सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं। सेना की 123 टीमें रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई हैं।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने मृतकों के परिजन को 5 लाख रु. के मुआवजे का ऐलान किया है। जिला प्रशासन ने शनिवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता बी जनार्दन पुजारी को दक्षिण कन्नड़ जिले के बाढ़ प्रभावित बंतवाल में उनके घर से बचाया। वहीं, धारवाड़ जिला प्रशासन ने स्कूलों और कॉलेजों की छुट्टियों को तीन दिनों के लिए और बढ़ा दिया है। लगातार हो रही बारिश को देखते हुए स्कूल-कॉलेज 13 अगस्त को खुलेंगे। इससे पहले येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि राज्य में 45 साल बाद सबसे बड़ी प्राकृतिक आपदा आई है। इसमें अब तक 6 हजार करोड़ रु. का नुकसान हुआ है। कर्नाटक सरकार ने केंद्र से 3 हजार करोड़ रु. की मदद मांगी है।

केरल के तीन जिलों में रेड अलर्ट

केरल में रेलवे ट्रैक पर पेड़ और चट्टान गिरने की वजह से ट्रैफिक पर असर पड़ा है। 10 ट्रेनें पूरी तरह और 5 को आंशिक रूप से रद्द किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटे में गुजरात, तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हो सकती है। वहीं, 12 से 14 अगस्त तक ओडिशा, दक्षिण झारखंड, उत्तर छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश और केरल में तेज बारिश का अनुमान है। रविवार के लिए केरल के तीन जिलों में रेड अलर्ट और 6 जिलों में ऑरेंज अलर्ट है।

मध्य प्रदेश: नर्मदा खतरे के निशान से 7 मीटर ऊपर बह रही
प्रदेश के धार और बड़वानी में नर्मदा नदी उफान पर है। इसकी वजह से 1000 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। राज्य के 28 बांधों में से सात के गेट खोल दिए गए हैं। जबलपुर स्थित बरगी बांध के 15 गेट खोल दिए गए हैं। बड़वानी में नर्मदा खतरे के निशान से 7 मीटर ऊपर बह रही है।