New Delhi : ISRO की तरफ से बड़ी खुशखबरी आ रही है। ISRO चीफ ने कहा है कि हमने विक्रम लैं’डर को ढूंढ लिया है। उससे संपर्क साधने की कोशिश की जा रही है। बता दें कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान यानी इसरो का चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से चांद पर सॉफ्ट लैं’डिंग के ठीक पहले संपर्क टू’ट गया। तब से इसका कुछ पता नहीं चल पाया।

आपको बता दें कि चांद की सतह से 2.1 किमी की ऊंचाई पर विक्रम अपने तय रास्ते से भटक गया और इसरो से इसका संपर्क टूट गया। हालांकि इसरो ने मिशन चंद्रयान-2 को काफी हद तक सफल बताया है। इसरो अध्यक्ष के।
सिवन ने कहा, ‘चंद्रयान-2 मिशन अपने लक्ष्य में 100 फीसदी सफलता के करीब रहा। यह मिशन नाकाम नहीं है। हम पहले से जारी अभियानों में व्यस्त हैं और चंद्रयान-2 के बाद गगनयान मिशन पर पूर्व निर्धारित शेड्यूल के मुताबिक काम जारी रहेगा। गगनयान समेत इसरो के बाकी मिशन तय समय पर होंगे।’ इस दौरान इसरो चीफ ने कहा, ‘अगले 14 दिनों में विक्रम लैंडर से संपर्क स्थापित करने की कोशिश की जाएगी। विक्रम लैंडर का आखिरी चरण ठीक नहीं रहा, जिसकी वजह से विक्रम से हमारा संपर्क टूटा। एक बार विक्रम से हमारा लिंक टूटा तो फिर स्थापित नहीं हो सका।’ इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि उम्मीद की किरण अभी बाकी है और अगले 14 दिनों तक हम विक्रम से संपर्क स्थापित करने की कोशिश करेंगे।