बीमारियां कभी भी बताकर नहीं आती हैं यह एक ऐसी चीज है कभी किसी को भी हो सकती है आज हर व्यक्ति तनावपूर्ण जिंदगी जी रहा है हर किसी को डॉक्टर के पास इलाज के लिए जाना पड़ता है लेकिन अगर हम कहें कि आप अपना इलाज स्वयं कर सकते हैं है ना बड़ी बात तो कैसा रहेगा अगर आप खुद का अपना इलाज कर सके वैकल्पिक चिकित्सा के अंतर्गत आने वाली रेकी के द्वारा आप खुद का इलाज कर सकते हैं

इस पद्धति के बारे में जानकारी लेकर आप स्वयं अपना इलाज कर सकते हैं रेकी एक आसान प्रक्रिया रेकी इलाज की आसान प्रक्रिया है जो जापान में विकसित की गई है इसमें औपचारिक अपने शरीर में वाहित ऊर्जा के माध्यम से अपना स्वयं इलाज करता है दूसरों का भी इलाज किया जा सकता है रेकी मुख्यतः तीन चरणों में सीखी जा सकती है तीन चरणों में सीखी जाने वाली तकनीकों अधिकांश लोग इस्तेमाल करते हैं इसको सीखने के बाद कुछ महीनों तक अभ्यास करना आवश्यक है सर्वप्रथम तो उसको सीखने से पहले आपको मानसिक और शारीरिक स्तर पर मजबूत करना जरूरी है रेखी सीखना सिर्फ एक चिकित्सा पद्धति नहीं बल्कि एक कला को सीखना होता है पहले चरण में औपचारिक सीखने वाले को देखी के इतिहास के प्रभाव के बारे में बेसिक चीजों के बारे में अवगत कराता है सर्वप्रथम यह सिखाया जाता है शरीर के किस अंग को स्पर्श करने से क्या होता है दूसरे चरण में कुछ खास प्रतीकों के बारे में जानकारी दी जाती है यह चरण सबसे अहम होता है तीसरा चरण पहले दो चरणों में रेकी को बारीकी से सीखने के बाद तीसरे चरण में रेकी के क्रिस्टल ग्रेट बनाना सिखाया जाता है क्रिस्टल ग्रिड के द्वारा मरीज का इलाज करने में आसानी होती हैं यह चरण डिस्टेंस रेकी को समझने और उसमें महारत हासिल करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है सीखने वालों के लिए एक महत्वपूर्ण बात एक प्रशिक्षक से ही इसको सीखना चाहिए और उसके बाद लगातार इसका अभ्यास करना चाहिए इस बात का ज्ञान होना चाहिए की यह कला किताबी ज्ञान के द्वारा रटी नहीं जा सकती है यह एक ऐसी विद्या है जो गुरु अपने शिष्य को देता है इस कला को खींचने के लिए गुरु का होना आवश्यक है भारत में कुछ महत्वपूर्ण लोगों के द्वारा ही रेकी का ज्ञान दिया जाता है

क्या बोल के संस्थापक श्री आशीष सिंह वाह काउंसलर मयंक जी के द्वारा क्या बोल टैलेंट के माध्यम से आप सभी रेकी जैसे महान महत्वपूर्ण ज्ञान को प्राप्त कर सकते हैं श्री सिंह का कहना है नेचर को समझिए नेचर के साथ अपने आप को जोड़िए आप बीमारियों से बहुत दूर हो जाएंगे