शिवसेना प्रमुख ने कहा कि सरकार इस दिशा में जिस तरह से काम कर रही है, उसे देखते हुए उम्मीद बढ़ गई है. इसको लेकर ज्यादा इंतजार करना ठीक नहीं होगा. उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से लोगों को यह कह ही दिया कि पहला ईट रखने के लिए तैयार हूँ।

राम मंदिर के लिए शिवसेना हमेशा आग्रही रही है ठाकरे ने कहा कि जब से बाबरी मस्जिद गिराई गई तबसे राम मंदिर के लिए शिवसेना आग्रही रही है. पूरे देश में इसकी जिम्मेदारी सिर्फ बालासाहब ठाकरे ने ली थी.
जब 80 के दशक में संघ परिवार और उससे जुड़े संगठन बाबरी मस्जिद की जगह पर राम मंदिर निर्माण का आंदोलन चला रहे थे, तब भी शिवसेना के तत्कालीन बालासाहेब ठाकरे जनता का मू़ड भांपते हुए हिंदुत्व की गाड़ी पर सवार हो गए थे. उन्होंने हिंदुओं के मुद्दे को बीजेपी से ज्यादा आक्रामकता से उठाया. जिसकी वजह से महाराष्ट्र में बीजेपी से ज्यादा शिवसेना को फायदा हुआ और राज्य में शिवसेना बीजेपी का बड़ा भाई बनकर उभरी.

राम मंदिर के निर्माण के लिए विशेष कानून की मांग

उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम चाहते हैं कि कोर्ट में इसका फैसला जल्द से जल्द हो लेकिन हमारी सरकार से अपील है कि वो भी राम मंदिर निर्माण के लिए कदम बढ़ाएं. राम मंदिर के निर्माण के हमने विशेष कानून की मांग की है.

मुंबई. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद (Ram Janmabhoomi-Babri Masjid) विवाद मामले की सुनवाई जारी है. वहीं, शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने सोमवार को कहा है कि केंद्र सरकार को विशेष कानून बनाकर अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर (Ram Temple) निर्माण करना चाहिए. ठाकरे ने कहा कि शिवसैनिक राम मंदिर की पहली ईंट रखने को तैयार रहें.अब ज्यादा दिन नहीं राम मंदिर निर्माण में।