हैदराबाद नवाबों का शहर इस शहर में नाबालिक लड़कियों को शादी के नाम पर खाड़ी देशों के लोग बना रहे हैं गुलाम खाड़ी देशों से बहुत अमीर मुस्लिम यहां शादी करने के लिए आते हैं और ज्यादातर इसकी शिकार होती हैं नाबालिक मुस्लिम लड़कियां बड़ी गाड़ियां अच्छा खाना चमकदार कपड़े पैसे के बल पर खाड़ी देश के लोग करते हैं नाबालिक मुस्लिम लड़कियों का शोषण

इन लड़कियों के परिवार को 50 हजार से ₹200000 तक रुपए दिए जाते हैं और अगर लड़की की उम्र कम हो रंग गोरा हो तो और भी बढ़ा कर पैसे की बोली लगाई जाती है इस काम में बिजोलिया होता है जो परिवार और लड़कियों को टारगेट करता है उन्हें बहला-फुसलाकर खाड़ी देश से है लोगों के लिए तैयार करता है बिजोलिया परिवार से अच्छा संबंध बनाता और मुस्लिम गरीब परिवार को इस देह व्यापार के अंधे कुएं में ढकेल देता है लड़कियों के परिवार और लड़कियों के नाम को गुप्त रखा गया है एक लड़की ने अपनी व्यथा बताते हुए बताया की दलाल के द्वारा उसे एक जगह पर ले जाकर 40 50 लोगों के बीच में बैठा दिया गया फिर उसमें से एक खाड़ी देश से आए लोगों ने चुनाव किया कि मैं इन से निकाह करने को तैयार हूं इन लड़कियों का शादी के नाम शोषण होता है और फिर इन्हें छोड़ दिया जाता है 2 से 3 महीने का होता है निकाह। कुछ ऐसे लोग भी हैं जो लड़कियों को देह व्यापार में उतार देते हैं ऐसी शादियों को शेख नामा कहा जाता है जो भारत में पूर्णता गैरकानूनी है कार्यकर्ताओं का दावा है कि 2018 में हजारों ऐसी शादियां हुई थी जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया 2019 मैं भी नहीं आई कमी यह लड़कियां शिकायतें भी नहीं करती क्योंकि पीड़ित लड़कियां अपने परिवार के खिलाफ नहीं जाती और जिंदगी भर डर के साए में रहने को मजबूर हो जाती है